कार लोन कैसे लें | How to Apply Car Loan

शेयर करें - ज्ञान बाँटें

जिस प्रकार अपना घर लेना हर किसी का सपना होता है। उसी प्रकार आज के समय में अपनी कार भी सभी व्यक्तियों का शौक है। एवं कहीं ना कहीं आवश्यकता भी क्योंकि अपनी कार होने से लोग ना सिर्फ अपने दफ्तर को समय पर जा सकते हैं बिना धक्कम धक्की बिना भीड़ के। बल्कि अपने अनुसार कहीं भी कभी भी घूमने जा सकते हैं। किसी भी आवश्यक कार्य के लिए यात्रा करने पर कार एक महत्वपूर्ण साधन सिद्ध होता है। हां पूर्व समय में यह कार लेने का सपना बहुत बड़ा और लगभग असंभव सा होता था। क्योंकि इसे लेने के लिए सर्वप्रथम एक बड़ी रकम की व्यवस्था करनी होती थी। जो कि हर किसी के लिए संभव नहीं हो पाता था। किंतु अब अपनी कार लेना भी संभव एवं आसान हो गया है। क्योंकि अब आप भी लोन पर नयी या सेकंड हैंड दोनों प्रकार की कारें ले सकते हैं। कार लोन किसी भी बैंक तथा वित्तीय संस्थान से बड़ी ही सरलता से पास कराया जा सकता है।

क्या होता है कर लोन | What is Car Loan in Hindi

कार लोन कंपनियों द्वारा कार खरीदने के लिए कर्ज (loan) प्रदान किया जाता है। यह कार लोन नई एवं पुरानी दोनों प्रकार की कारों को खरीदने के लिए प्रदान किया जाता है। लेकिन के ब्याज दरों में अंतर होता है। नयी कार लेने के लिए कर्ज प्रदान करने पर कंपनी उस पर 9.25 से 13.75 प्रतिशत तक का ब्याज दर निर्धारित करती है। एवं पुरानी सेकंड हैंड कार पर 12.50 से 70.50 रूपए तक के ब्याज लगाती हैं।

कार लोन में क्या-क्या लाभ उपलब्ध हैं:-

१. कार लोन एक आसान ऋण:- क्योंकि बैंक तथा कार देने वाली कंपनीयों में मानो प्रतियोगिता चल रही हो लोन उपलब्ध कराने में तथा लोन में सुविधाएं प्रदान करने में। अतः इसलिए यह लोन सरलता से आपको प्रदान कर दिया जाता है। एवं यह कार लोन की प्रक्रिया सुरक्षित भी है और यदि बैंक द्वारा निर्धारित की गई राशि के अनुकूल आपकी आमदनी हो तो यह लोन लेना और भी अधिक सरल हो जाता है। एवं आपका लोन चुकता होने तक के लिए आपकी कार बैंक द्वारा गिरवी रख ली जाती है। इसके लिए बैंक आपके द्वारा ली जाने वाली कार को हाइपोथेटिकेट करते हैं। जिसके अनुसार जब तक ऋण चुकता नहीं हो जाता तब तक के लिए कार पर बैंक का स्वामित्व होता है। जिससे यह लाभ है कि आपको अपने अन्य कोई वस्तु गिरवी रखने गिरवी रखना की बैंक को नहीं देनी पड़ती।

२. कार लोन की आसान प्रक्रिया:-बैंक एवं कार बनाने वाली कंपनीयों ने अपने साथ अधिक लोगों को जोड़ने हेतु सरलता से लोन लेने की प्रक्रिया को आरंभ किया है। कार लोन प्राप्त करने में दस्तावेजों एवं ऋण की स्वीकृति में लगभग 1 दिन का समय अथवा कई बार तो कुछ घंटों का ही वक्त लगता है। एवं आप का लोन पास हो जाता है।

३. मर्जीन की रकम में कमी:-बैंक द्वारा कार लोन हेतु कार के रकम का 95% हमें प्रदान कर देती है। एवं आपको केवल इसके 5% की ही व्यवस्था करनी होती है। जिससे लाभ यह होता है कि लगभग छह लाख की कार हो तो आप 30,000 के भुगतान से प्राप्त कर सकते हैं। एवं कार बीमा, कार एक्सेसरीज एवं रजिस्ट्रेशन इत्यादि में भी अलग से राशि नहीं लगानी पड़ती।

४.कार पर पूर्णतः आपका अधिकार:- लोन पर ली गई कार पर पूर्णतः आपका ही स्वामित्व होता है एवं आप इसे जैसे चाहे वैसे अपने उपयोग में ला सकते हैं। इस पर आपको किसी प्रकार का प्रतिबंध नहीं होता।

५.मासिक ब्याज का स्वनिर्धारण:- आप की छमता के अनुसार ही ब्याज वसूलने की रकम को निर्धारित करता है। एवं यदि आप अपना मासिक ब्याज प्रारंभिक महीनों में अधिक मात्रा में देते हैं तो धीरे-धीरे आगे चलकर आपकी ब्याज रकम को कम कर दिया जाता है। अब वर्तमान समय में तो कार ऋण का प्रसंस्करण भी घटाकर बहुत ही कम कर दिया है लगभग 2% कर दिया है।

६. कार विक्रेता द्वारा प्रदान किए जाने वाले छूट:-बैंक के साथ कार कंपनियों के कार विक्रेता द्वारा लोन लेने वालों के लिए कुछ छूट की व्यवस्था करती है। इसलिए आप यदि उसी कार्य विक्रेता से कार लेते हैं जिनका बैंक के साथ समझौता हुआ है। तो आपको कई प्रकार की सुविधाएं प्रदान की जाती है ।जैसे- कार इंश्योरेंस, फ्री एक्सेसरीज, रजिस्ट्रेशन कराने में प्रदान की जाने वाली छूट। यह सब कार विक्रेता तथा बैंक स्वयं को प्राप्त होने वाली कमीशन में से प्रदान करते हैं।

कार लोन लेने हेतु आवश्यक दस्तावेज:-

१. इसके लिए आपके पास पहचान पत्र की आवश्यकता होगी जिनमें से आपका पासपोर्ट, पैन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि सम्मिलित हैं।

२. एवं आपका वोट कार्ड,

३. आपका आयु प्रमाण पत्र,

४. आप का निवास प्रमाण पत्र,

५. आपकी पासपोर्ट साइज फोटो

६. इसके अतिरिक्त आपके तीन मास की तनख्वाह की रसीद, आपके छ: माह की बैंक का विवरण की आवश्यकता होगी ।

७.एवं किसी- किसी कंपनी में कार की बीमा का जेरोक्स तथा ड्राइविंग लाइसेंस के बिना ऋण नहीं दिया जाता तो वहां यह दोनों चीजें भी आवश्यक होती है

हाइपोथैकेशन करना:-

आपकी कार लोन लेने पर बैंक हाइपोथैकेशन की प्रक्रिया करती है। जिसके अंतर्गत यदि आप अपना मासिक ब्याज चुकाने में असमर्थ हो रहे हों। तो बैंक आपके कार को जप्त कर सकती है। यह हाइपोथैकेशन पत्र आपके रजिस्ट्रेशन पत्र के साथ भी जुड़ा होता है। और इसे आप तभी हटवा सकते हैं जब आप ऋण की पूरी रकम चुकता कर लें।

अपने रजिस्ट्रेशन पत्र से हाइपोथैकेशन लेटर हटाने का तरीका:-

१.हाइपोथैकेशन लेटर हटवाने के लिए आप सर्वप्रथम रजिस्ट्रेशन ट्रांसपोर्ट कार्यालय में की बीमा के दस्तावेज, कोई आपत्ति ना होने का प्रमाण पत्र (no objection certificate),निवास प्रमाण पत्र साथ लेकर जाएं।

२. इस बात का ख्याल रहे यह नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट आपको कार की कंपनी के द्वारा प्राप्त होगी।

३. अब इन दस्तावेजों वहां जमा देकर अपने कार के बीमा के कागजातों को अपने नाम पर करवा लें।

कार लोन का रकम निर्धारण:-

कार के लिए आपको कितना ऋण दिया जाएगा यह तो कार विक्रेता कंपनी पर ही निर्भर करता है। किंतु इसके लिए आपकी आयु एवं आप की वार्षिक आय पर ध्यान दिया जाता है। आप की वार्षिक आय के लगभग 3000 गुना ही ऋण आपको प्रदान किया जा सकता है। कार कंपनी कार की रकम से लगभग 80 -90 प्रतिशत का फाइनेंस और कहीं -कहीं 100% का भी फाइनेंस कर देते हैं। यह फाइनेंस की रकम एक्स शोरूम अथवा रोड प्राइस होना संभव।

एक्स शोरूम तथा रोड प्राइस क्या होता है:-किसी कार विक्रेता से लोन पर ली गई कार की रकम को चुकता करना ही एक्स शोरूम की रकम है।

तथा अपने कार की बीमा राशि एवं सड़क कर इत्यादि चुकाने के पश्चात कार चलाना प्रारंभ करना रोड प्राइस कहलाता है।

कार ऋण पर ब्याज की रकम क्या है | Car Loan Interest Rate

अक्सर कार कंपनियां एमसीएलआर (Mclr ) की राशि के अतिरिक्त भी कुछ राशि वसुलती है। जिससे आपके लिए लोन चुकाना अत्यधिक आसान हो जाता है।

यदि आप भी कार लेना चाहते हैं और आपको लगता है कि कार लोन की ब्याज दरें घटेगी। ऐसी स्थिति में आप फ्लोटिंग राशि कार लोन ले सकते हैं। क्योंकि वर्तमान में इसके अंतर्गत आपको लगभग 10. 30 से 15. 25 आपके ब्याज दर पर ऋण प्राप्त हो सकेगा।

इसके साथ ही यह कार लोन के लिए स्त्रियों के आवेदन करने पर कंपनियां ब्याज दर पर कुछ छूट प्रदान करती हैं।

नई कार की अपेक्षा पुरानी सेकंड हैंड कार लेने पर अधिक ब्याज दर वसूला जाता है।

कार लोन लेने के लिए किन-किन जगहों पर रुपए व्यय करने होते हैैं:-

निर्धारित समय से पूर्व लोन की रकम चुकता करने पर बैंक कई प्रकार के वसुलती है। जैसे कि-

१.आवेदन करते वक्त प्रसंस्करण की रकम वसूलना। जोकि 0.41% का होना संभव है।

२. समय से पूर्व ऋण चुकाने की फीस वसूलना। जोकि किसी- किसी बैंक के द्वारा 4- 5% तक की वसूली जाती है। एवं कोई कोई बैंक बिल्कुल ही नहीं वसूलता।

३.एवं किसी -किसी बैंक के द्वारा आपके पास जब पैसे हो जाए तभी लोन का एक भाग चुका देने पर भी पैसे वसूल जाते हैं। एवं किसी किसी बैंक में आपको लोन का एक भाग आप जब चाहे तब चुकाने की सुविधा प्रदान की जाती है। लेकिन यह ऋण लेने के छह मास पश्चात ही संभव है। जब तक आपके ऋण के छःमास पूर्ण ना हो जाए तब तक आप इसका एक भाग नहीं चुका सकते ।

कार लोन लेने में ध्यान रखने योग्य बातें:-

१. ऋण लेते वक्त आपको ध्यान रखना चाहिए कि बैंक किस कार के लिए कितना लोन देगी।

२. यदि आप किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर कार खरीदते हैं। तो कार के मूल्य पर आपको किसी प्रकार की छूट प्रदान नहीं की जाएगी। तथा ना ही तो किसी प्रकार का कर छुट मिलेगा।

३. तथा ऋण लेते वक्त ही ऋण पर कितना ब्याज चुकाना पड़ेगा इसकी गणना अवश्य कर लें।

४. एवं कार लेने के समय अपनी सामर्थता का ख्याल अवश्य रखें।

५.इसके लिए आपकी क्रेडिट स्कोर 7 50 सौ से अधिक होनी चाहिए।

६. आपकी आय का साधन एवं आप की वार्षिक आय के विषय में बैंक या वित्तीय संस्थान जानकारी लेगी।

९.कार लोन लेने के लिए आपकी आयु 21 वर्ष से 65 वर्ष के मध्य की होनी चाहिए तभी आप यह लोन ले सकेंगे।

१०. यदि आप कोई नौकरी आदी करते हैं तो लोन लेने के लिए आप की वार्षिक आय तीन लाख से अधिक। तथा यदि अपना कोई बिजनेस करते हैं तो वार्षिक आय 4 लाख से अधिक होनी चाहिए।

कार लोन लेने के लिए आवेदन का तरीका क्या है  | How to Apply Car Loan

१.इसके लिए आवेदन करने हेतु सर्वप्रथम उपरोक्त बताए गए दस्तावेजों सहित अपने आसपास के उस बैंक में जाएं जहां कम ब्याज दर पर कार लोन उपलब्ध हो।

२. तथा वहां से कार लोन के लिए फॉर्म ले उसे अच्छी तरह से पढ़कर भर लें।

३. सभी दस्तावेजों को इसके साथ अटैच कर दें एवं जमा कर दें। इस प्रकार कार लोन के लिए आप आवेदन कर सकते हैं। आपके फॉर्म तथा दस्तावेजों का सत्यापन होने के पश्चात आपका लोन पास कर दिया जाता है।


शेयर करें - ज्ञान बाँटें

Leave a Comment