बकरी पालन का काम कैंसे शुरू करें ? Bakri Palan Kaise Karen

शेयर करें - ज्ञान बाँटें

अगर आप खुद का बकरी पालन का बिजनेस शुरू करना चाहते हो तो सबसे पेहले आपको इसके लिए ट्रैनिंग लेनी पड़ेगी ।इसके लिए कई प्राइवेट और सरकारी संस्थाए खुलीं हैं जो इनके बारे में ट्रैनिंग देती हैं ।आपको इसके लिए कुछ पैसे देने पढ़ेंगे।

bakri palan kaise karen

बकरी पालन में शुरू करने के लिए ख़र्च।

30 बकरियों के शेड के लिए कम से कम 50,000 रुपए की जरूरत पढ़ सकती हैं । 30 बकरियों के भोजन का ख़र्च कम से कम साल का 30,000 से 40,000 तक हैं । बकरियों के वेक्सीन या टीकाकरण में ख़र्चा 10 से 20,000 रु हो सकता हैं । मतलब की साल में 1 से 2 लाख भी लग सकता हैं ।

बकरी पालन के लिए हमारी सरकारे लोंन भी देती है | और नाबार्ड की एक योजना के अनुसार, गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले, SC और ST श्रेणी में आने वाले गरीब लोगों को बकरी पालन के लिए 33% का अनुदान भी  दिया जायगा ।

बकरी पालन व्यवसाय के लिए बकरी की नस्ल का चुनाव करें ।

बकरी पालन करने से पेहले आपको बकरी के सही नस्ल का चुनाव करना चाहिए ।
बकरी कई तरह की होती हैं तो ऐसे में इनका चुनाव इस ढंग से करना चाहिए की बकरी का दूध और मांस दोनों काम में आ जाऐं ।
और महत्व बात यह की जो नस्ल की बकरी आप लेने की सोच रहे हो वो किस वातवरण में पल सकती हैं ।

बकरियों का सही प्रजनन का समय –

कोई भी बकरियों का गर्भधारण करना 15 से 18 माह में सही होता हैं क्यूंकि उनका वजन उस समय पर 21 से 24 किलो के बीच होता हैं ।
बकरियाँ 6 से 7 माह में बच्चें पैदा करती हैं और 2 या 3 बच्चें पैदा करती हैं ।

बकरियों को बेच कर ज्यादा से ज्यादा पैसे कैसे कमाये ।

अबसे पेहले आपको बकरियों को बेचने के लिए अपनें ही आसपास लोकल क्षेत्र में ही बज़ार ढूंढ़ना होगा। जिससे आप दूध या बकरी को बेच सकते हो।
और बकरियों को उनके वजन के हिसाब से ही बेचे इससे आपको बहुत फायदा होगा ।
एक 30किलोग्राम की मादा बकरी को बेचने पर आपको 6000 से 7000 तक की कमाई कर सकते हो ।

ध्यान रखने वाली बातें ।

• अगर आपकी बकरी का वजन कम हो रहा हैं या आपको अस्वस्थ नजर आ रही हैं तो अपनें पशु चिकित्सक से परामर्श करें ।
• बकरियों का जुगाली करना समान्य हैं अगर वहा ऐसा नही कररी हैं तो भी चिकित्सक को दिखाए।
• जिस बकरियों का स्वास्थ्य सही ना लगे उनको बाकी बकरियों से अलग रखे।
आज हमनें आपको बेस्ट बिजनेस आईडिया बताया हैं


शेयर करें - ज्ञान बाँटें

Leave a Comment