कबाड़ के बिजनेस से कैसे होती है लाखों की कमाई | LOW INVESTMENT BUSINESS IDEA IN HINDI

शेयर करें - ज्ञान बाँटें

नमस्कार दोस्तों ! पैसे कैसे कमाए ब्लॉग में आज हम आपके लिए एक और बिजनेस की जानकारी लेकर आये हैं | आज हम आपको बतायंगे कि आपके बेचे गए कबाड़ से भी बिजनेस करके लोग लाखों रुपये कैसे कमाते हैं |  कबाड़ी का बिजनेस क्या होता है | कबाड़ का बिजनेस कैसे शुरू करें |  आदि |

कबाड़ के व्यवसाय का आईडिया  | Garbage Small Business Idea in Hindi

कबाड़ व्यवसाई का अर्थ होता है विभिन्न प्रकार की धातु से बने टूटे-फूटे वस्तुओं को। भिन्न-भिन्न लोगों के द्वारा खरीद कर उसे जमा करके पुनः निर्माण अथवा रीसाइक्लिंग होने के लिए किसी रीसाइक्लिंग केंद्र में बेचना । पूर्व काल में इस कार्य को बड़ी ही नीची दृष्टि से देखा जाता था। एवं इस कार्य को बिल्कुल निम्न वर्ग के गरीब व पिछड़े लोग किया करते थे। किंतु अब वर्तमान में इस कार्य में उच्च शिक्षित लोग भी रुचि लेने लगे हैं। एवं इसी कारण से इस कार्य को एक व्यवसाय के रूप में देखने का अच्छा दृष्टिकोण लोगों को प्राप्त हुआ है। एवं आज के समय में कई उच्च पद प्राप्त सम्मानित लोग है जिन्होंने अपनी तरक्की का सफर कबाड़ी के व्यवसाय से प्रारंभ किया। भारत में चल रहे सुप्रसिद्ध वेदांता ग्रुप के मालिक अनिल अग्रवाल जी जोकि भारत के पांचवें नंबर के सबसे अमीर लोगों में से एक हैं। उन्होंने भी अपने व्यवसाय का प्रारंभ रद्दी टूटे-फूटे सामानों को बेचने से किया था। राजनीति के क्षेत्र में प्रसिद्ध केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी जी भी पहले इसी व्यवसाय को किया करते थे। इस व्यवसाय में ना केवल अधिक मुनाफा है बल्कि इससे पर्यावरण प्रदूषण पर भी नियंत्रण लगता है।

क्या है यह कबाड़ का व्यवसाय | Whats is Garbage Business in Hindi

जिन वस्तुओं का उपयोग होते- होते वह अब जर्जर हो चुका है। ना तो वह इस्तेमाल के योग्य रहा और ना ही दुबारा बनाने के। इस प्रकार की वस्तुओं को लोग कचरे में फेंक देते हैं। इन्हीं उनसे खरीद कर उसे एकत्रित कर के किसी ऐसे केंद्र में बेच दिया जाता है। जहां से उसका नव निर्माण हो सके यह कार्य किसी भी प्रकार से छोटा या नीच कार्य नहीं है। लगन व मेहनत से इस व्यवसाय से भी करोड़ों रुपए कमाए जा सकते हैं। विभिन्न प्रकार की धातुएं इस कार्य के अंतर्गत एकत्रित की जाती है एवं बेची जाती है। इन धातुओं की अपनी-अपनी अलग फैक्ट्रियां होती है। जैसे प्लास्टिक के रद्दी सामानों को प्लास्टिक की फैक्ट्री में तथा लोहा ,तांबा,एल्युमीनियम जैसे सामग्रियों को धातु की फैक्ट्री में विकृत किया जाता है।

कौन-कौन सी चीजें कबाड़ की श्रेणी में खरीदी व बेची जा सकती हैं:-

इस व्यवसाय के अंतर्गत अनेक प्रकार की चीजें कबाड़ी के रूप में क्रय विक्रय की जाती है। जैसे प्लास्टिक, लोहा, टीन, एल्युमीनियम, तांबा, फटे पुराने कपड़े, कागज, गत्ते, बिजली से जुड़ी वस्तुएं, पुराने खराब पंखे, टीवी, लैपटॉप, कंप्यूटर तथा फर्नीचर इत्यादि अनेकों वस्तुएं।

इस व्यवसाय को प्रारंभ करने हेतु महत्वपूर्ण सामग्री क्या- क्या हैं 

वैसे तो इस व्यवसाय को प्रारंभ करने के लिए अनेकों सामग्रियां चाहिए होती है। किंतु यह सामग्री व्यवसाय के ढांचे पर निर्भर करती है। व्यवसाय यदि छोटे स्तर पर छोटी सी शॉप खोल कर करना चाहते हैं तो यह कम खर्च में कम सामग्रियों के साथ शुरू किया जा सकता है। लेकिन यदि व्यवसाय का ढांचा बड़ा बना रखा है। एवं इसे बड़े स्तर पर शुरू करना चाह रहे हैं तो अधिक निवेश करना पड़ेगा।

1. इसके लिए सर्वप्रथम आपको आवश्यकता होती है निवेश की किसी भी व्यवसाय के लिए निवेश सबसे प्रथम तथा मुख्य पड़ाव होता है।

2. दूसरा आपको व्यवसाय चलाने के लिए एक दुकान की आवश्यकता होगी।

3. एवं तीसरी आवश्यकता होती है इसके लिए वाहनों की ।

4. इसके साथ ही आपका जीएसटी नंबर होना चाहिए।

कबाड़ी के व्यवसाय में कितनी जमीन की आवश्यकता:-

इस व्यवसाय में अत्यधिक जमीन की आवश्यकता नहीं पड़ती है। क्योंकि इसमें आपको बहुत ही बड़ा दुकान खोलने की आवश्यकता नहीं होती। किंतु आप इस व्यवसाय को यदि बड़े स्तर पर प्रारंभ करना चाहते हैं । तो हमारी सलाह यही है कि आप फर्नीचर कबाड़ी का व्यवसाय आरंभ करें एवं इसकी दुकान के लिए 200 से 300 स्क्वायर फीट का स्थान चाहिए होता है। तथा इसके गोदाम के लिए 300 से 500 स्क्वायर फीट की जगह चाहिए होती है।

कबाड़ी के व्यवसाय को प्रारंभ करने के लिए आवश्यक दस्तावेज :-

इसे को प्रारंभ करने के लिए दस्तावेज निम्नलिखित हैं:-

1. इसे प्रारंभ करने हेतु आपके पहचान पत्र-आधार कार्ड, पैन कार्ड तथा भोट कार्ड की आवश्यकता होती है।

2. तथा आप का निवास प्रमाण पत्र जैसे राशन कार्ड या बिजली का बिल आदि।

3. आपके बैंक तथा बैंक खाते की जानकारियां।

4. आपका फोन नंबर तथा ईमेल आईडी।

5. एवं आप की पासपोर्ट साइज फोटो।

6. और जीएसटी नंबर की आवश्यकता पङती है।

Garbage बिजनेस आरम्भ करने के स्टेप्स 

इस कबाड़ के व्यवसाय को निम्न स्तर पर प्रारंभ करने के हेतू कोई विशेष पङाव पार नहीं करने होते हैं। किंतु यदि इसे वृहद स्तर पर प्रारंभ करना हो तो निम्नलिखित पड़ावों को पार करना होता है।

1.कार्य क्षेत्र की विवेचना:-

जिस स्थान पर व्यवसाय को प्रारंभ करने के इच्छुक है उस क्षेत्र की जांच करना। जैसे कि उस क्षेत्र में अन्य कितनी दुकानें है ।तथा वे कौन-कौन सी चीज बेचते हैं एवं उनके द्वारा बेची जा रही वस्तुओं के मूल्य आदि की जानकारियां प्राप्त करना। तथा इस बात पर ध्यान देना की आप वहां मौजूद दुकानों में बेची जा रही वस्तुओं का मूल्य उन दुकानों से कम रख सकते हैं या नहीं। एवं नव निर्माण केंद्र (recycle point) वहां से कितनी दूरी पर है।

2.आपकी दुकान के लिए स्थान का चयन:-

स्थान जांच करने के पश्चात आपको इस बात का भी ख्याल रखना है। कि आपकी दुकान रोड के पास ऐसे स्थान पर होनी चाहिए। जहां लोगों का अधिक आवागमन होता हो।

3.नव निर्माण केंद्र (recycling centre) के विषय में जानकारियां प्राप्त करें:-

जिस क्षेत्र में आप व्यवसाय प्रारंभ करने जा रहे हैं वहां के आसपास के रीसाइकलिंग सेंटर के विषय में जानकारियां अवश्य जुटा लें। कि यह केंद्र कितनी दूरी पर स्थित है तथा यहां कबाड़ी की वस्तुएं कितने मूल्य पर बिकेंगी आदि जानकारियां।

4.वाहन की आवश्यकता:-

यदि घर से इस व्यवसाय को प्रारंभ किया जाए तो व्यवसाय से जुड़े वस्तुओं को लाने हेतु कम से कम एक बाइक की आवश्यकता तो होती ही है। किंतु यदि संभव हो सके तो चार पहिए वाहन ही इस व्यवसाय के लिए अनुकूल होते हैं। फिर चाहे व्यवसाय घर पर हो अथवा दुकान पर ।एवं इसके लिए आपके पास तराजू भी होना आवश्यक है।

5. उपरोक्त पङावों को पूर्ण करने अथवा अपना निवेश कार्य पूर्ण करने के पश्चात आप अपनी व्यावसायिक लाइसेंस (business licence) बनवाने हेतु आवेदन करें। एवं लाइसेंस प्राप्त हो जाने के पश्चात अपने व्यवसाय को प्रारंभ करें।


शेयर करें - ज्ञान बाँटें

Leave a Comment