गांव में कैसे शुरू करें मसालों का बिजनेस | Gaw me Paise Kaise Kamaye

शेयर करें - ज्ञान बाँटें

दोस्तों हम अपने ब्लॉग पैसे कैसे कमायें में पैसे कमाने के नए तरीके बताते रहते हैं | चाहे आप गाँव में रहते हो या शहर में हमारा उद्देश्य है कि आपको अपना काम या व्यापार करने की उपयोगी जानकारी मिले | इसी क्रम को आगे बढाते हुए हम आज आपको एक और पैसे कमाने का तरीका बता रहे हैं | आज हम आपको एक ऐसे बिजनेस (Small Business Ideas) के विषय में बता रहे हैं जो कभी भी डाउन नहीं होता | जिसे आप कहीं से भी शुरू कर सकते हैं | जो लोग गांव में पैसे कमाने के तरीके ढूंढ रहे हैं उन्हें तो आज की पोस्ट बहुत ध्यान से पढनी चाहिए |

गांव में मसालों का व्यापार कैसे शुरू करें |

आज के इस लेख में हम ग्रामीण क्षेत्रों में मसालों का व्यवसाय प्रारंभ करने के विषय पर विभिन्न जानकारियां प्रदान करेंगे। इससे आप यह जान सकते हैं कि अपने आसपास के ग्रामीण क्षेत्र में मसाले का व्यवसाय कैसे प्रारंभ किया जाए। विभिन्न प्रकार के मसाले भारत में प्रचलित हैं। भारत का चाहे कोई भी राज्य हो प्रायः सभी राज्यों में यहां मसालों की कृषि अवश्य ही की जाती है। चाहे फिर वह राज्य मरूभूमि हो या पहाड़ी अंचल या फिर उर्वरक जमीन ही क्यों ना हो सभी स्थानों में मसालों की कृषि की जाती है। एवं इन मसालों की मांग ना कि केवल भारत में बल्कि अन्य-अन्य देशों में भी बड़ी मात्रा में की जाती है। ऐसे में यदि यह व्यवसाय यदि प्रारंभ किया जाए अपने आसपास के ग्रामीण अंचलों में भी तो यह बहुत ही सफल व्यवसाय सिद्ध होगा। तो आइए इसके विषय में और अधिक विस्तार से जानें।

मसाला का बिजनेस प्रारंभ करने के लिए क्या करना होता है:-

इस व्यवसाय की व्यवस्था करने हेतु आपको अधिक दूरी वाले स्थानों का चयन करने की आवश्यकता भी नहीं है। इसे अपने निवास स्थान के आसपास के क्षेत्र में ही आरंभ कर सकते हैं। इसके लिए सर्वप्रथम यह ख्याल रखना आवश्यक है आपके समीप के क्षेत्रों में किन मसालों की कृषि की जाती है। ताकि आप अपने लघु व्यवसाय के आरंभ हेतू वहीं से खड़े मसालों की खरीद कर सकें। इसके पश्चात आपको कोई बड़ी-बड़ी मशीनें भी लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती।इसे केवल हाथों से खानी दस्ते(मसाले कूटने वाले उखल) की मदद से कूट कर भी बेच सकते हैं। इन अपने हाथों से कुटाई कीए गए मसालों की तो बाजारों में, होलसेल में तथा शहरी क्षेत्रों में भी अत्यधिक मांग है तथा इसे लोग बहुत पसंद भी करते हैं।

भारत में पाए जाने वाले कुछ मसाले 

कृषि कार्य के लिए भारत भूमि बड़ी ही अनुकूल है यहां की जलवायु यह सभी प्रकार की कृषि के लिए अनुकूल है। चाहे अनाज हो फल, फूल, सब्जियां हो या फिर मसाले ही कृषि क्यों ना हो। भारतीय मसालों की तो विश्व स्तरीय मांग देखकर भारत सरकार द्वारा भी इसके व्यवसाय व कृषि के लिए काफी सहयोग प्रदान किया जाने लगा है। भारत में विभिन्न प्रकार के मसाले पाए जाते हैं। जिनमें से उदाहरण स्वरूप कुछ मसालों के नाम निम्नलिखित हैं-धनिया, मिर्ची हल्दी, दालचीनी ,तेजपत्ता, काली मिर्च, शॉफ, अजवाइन आदी ,मेथी, आदि इसके अतिरिक्त भी और अधिक अन्य अन्य प्रकार के मसाले। भारतीय संस्कृति में इसका उपयोग ना केवल खानों को स्वादिष्ट बनाने के लिए बल्कि औषधि के रूप में भी अत्यधिक महत्व है। पूरी दुनिया में उगाए जाने वाले मसालों में से 89% तक भारतीय उत्पाद होता है।

कौनसा मसाला बिजनेस शुरू करें | Masala Business Konsa Shuru Kare 

आप इसे अपने निवास स्थान से शुरू कर भिन्न-भिन्न नाप वाले पैकेट्स में भरकर होलसेल में भी बेच सकते हैं। अथवा अपनी दुकान खोल कर भी इसे बेचने का कार्य सकते हैं। तथा यदि आप अपने मसालों के व्यवसाय को पूरे विश्व में फैलाना चाहते हैं। तो इसके लिए आप अपने व्यवसाय को देश विदेश में विस्तृत करने के लिए। भारत सरकार के द्वारा भी सहायता प्राप्त कर सकते हैं। मसालों को कूटकर बेचने के अतिरिक्त आप गोटे या खड़े मसालों का भी व्यवसाय कर सकते हैं।

मसालों के व्यवसाय से होने वाले लाभ | Masala Business Profit Margin

मसालों का व्यवसाय करने वाले लोग, इसकी की बड़ी-बड़ी कंपनियां इस व्यवसाय के द्वारा महीने के लाखों -करोड़ों रुपए कमा रही है। इसके कई कारण है जैसे कि यदि केवल भारत की ही बात करें। तो चाहे होटल हो या ढाबे घर हो या कैंटीन या फिर बड़े-बड़े रेस्टोरेंट हो इन सभी स्थानों पर मसालों की आवश्यकता अवश्य ही पड़ती है। छोटे -छोटे शहर हो या बड़े नगर या फिर बहुत ही छोटे गांव हों मसालों की मांग में कमी नहीं आती। औषधि बनाने से लेकर सब्जी बनाने ,अचार बनाने ,पापड़ ,बड़े, छोले ,गोलगप्पे आदि। अनेकों प्रकार से खाने के उपयोग में लाया जाता है।

Masala Business प्रारंभ करने के लिए क्या करना होगा | Masala Business Plan

आप इस व्यवसाय को अच्छी तरह चला सके इसके लिए अच्छा होगा कि आप मसालों के व्यवसाय की ट्रेनिंग लें। अपने ही किसी समीप के ट्रेनिंग सेंटर में। इस प्रशिक्षण को प्राप्त करने के लिए अत्यधिक पढे होने की आवश्यकता भी नहीं होती। सामान्य पढ़े-लिखे लोग भी इसके लिए प्रशिक्षण ले सकते हैं। भारत के लगभग सभी राज्यों में खादी ग्राम प्रशिक्षण केंद्र स्थित है आप वहां से भी प्रशिक्षण ले सकते हैं। अथवा किसी भी अन्य सरकारी अथवा गैर सरकारी केंद्रों में भी मसाले के व्यवसाय का प्रशिक्षण दिया जाता है।

व्यवसाय आरंभ करने के लिए महत्वपूर्ण सामग्रीयां | Spice Grinding Machine & Items

1.इसे आरंभ करने के लिए सर्वप्रथम आपके पास आप जिन मसालों की बिक्री का व्यवसाय करना चाहते हैं। यह मसाले पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होने चाहिए।

2.एवं आप को पर्याप्त स्थान की भी आवश्यकता पड़ेगी जहां आप इसे कूटने तथा पैक करने एवं रखने का कार्य सहजता से कर सकें।

3.इसके अतिरिक्त पैकेजिंग मशीन की भी आवश्यकता पड़ेगी। जिससे कि आप मसालों को पैकेट्स में सुरक्षित ढंग से पैक कर सकें। चाहे वह मसालों के पाउडर हो या गोटे मसाले पैकेजिंग के लिए इस मशीन की आवश्यकता पड़ेगी ही।

4.इसके साथ ही व्यवसाय वाले स्थान पर वाणिज्यिक बिजली(commercial electricity) की भी व्यवस्था होनी चाहिए। ताकि आपको बिजली की बिल भरने की परेशानी ना हो।

मसाला बिजनेस प्रारंभ करने के लिए रजिस्ट्रेशन तथा लाइसेंस बनवाना होगा 

वैसे तो सभी राज्यों में भिन्न भिन्न नियम होते हैं। जिनका पालन व्यवसाय को प्रारंभ करने के लिए करना आवश्यक होता है। किंतु फिर भी कुछ कार्य सभी राज्यों में अनिवार्य रूप से करने होते हैं। जैसे कि व्यवसाय आरंभ करने के लिए अपना पंजीकरण करवाना। उद्योग आधार पंजीकरण ऑनलाइन करवाया जाना संभव है।तथा मसालों के व्यवसायिक लाइसेंस बनवाना। इसके अतिरिक्त यदि अपने समीप के क्षेत्रों को छोड़कर अन्य-अन्य राज्यों में व्यवसाय को फैलाने के लिए। अथवा यदि 20 लाख रुपए से अधिक का निवेश करने हेतु आपको जीएसटी लाइसेंस भी बनवानी पड़ेगी।

किस प्रकार सहायता होगी सरकार से | MSME Business Loan

भारत सरकार द्वारा व्यवसाय प्रारंभ करने हेतु अनेक प्रकार की सहायताएं प्रदान की जा रही हैं। प्रधानमंत्री रोजगार योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना , MSME Project (ministry of micro small and medium enterprises) की भारतीय संस्था पर भी लोन लेकर अपने व्यवसाय को प्रारंभ कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त अपने व्यवसाय का प्रोजेक्ट बैंक में जमा करके बैंक के द्वारा भी ऋण प्राप्त किया जा सकता है।

व्यवसाय के लिए कुछ सुझाव | spice business ideas

व्यवसाय के लिए निर्धारित की गई किसी भी प्रकार के सरकारी नियमों को पूर्ण अवश्य करें, एवं व्यवसाय के लिए पंजीकरण अथवा लाइसेंस इत्यादि के विषय में अत्यधिक जानकारियां प्राप्त करने हेतु अपने समीप के लघु उद्योग केंद्र में जा सकते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको बताया कि आप गाँव में रहकर कैसे मसाले का एक बिजनेस शुरू कर सकते हैं | और अपने और दूसरों के लिए भी रोज़गार खड़ा कर सकते हैं | अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो तो इसे फेसबुक और व्हाट्स एप पर जरुर शेयर करें |

हम अपने ब्लॉग में गांव में पैसे कमाने के तरीके पोस्ट करते रहते हैं | अगर आप भी किसी और बिजनेस की जानकारी चाहते हैं तो हमें जरुर लिखें |

Image by M Ameen from Pixabay


शेयर करें - ज्ञान बाँटें

Leave a Comment