फूलों की खेती से 15 लाख कैसे कमायें | Flower Farming Se Paise Kaise Kamaye

शेयर करें - ज्ञान बाँटें

नमस्कार दोस्तों ! पैसे कैसे कमायें ब्लॉग में आपका एक बार फिर से स्वागत है | हम अपने ब्लॉग में पैसे कमाने के नए नए और आकर्षक तरीके पोस्ट करते रहते हैं | आज हम आपके लिए एक और पैसे कमाने का तरीका लेकर आये हैं | आज हम आपको बतायंगे कि आप फूलों की खेती (flowers ki kheti) करके कैसे लाखों रुपये कमा सकते हैं | जो लोग गाँव में रहते हैं और गाँव में पैसे कमाने के तरीके ढूंढ रहे हैं उनके लिए तो आज की पोस्ट बहुत काम आ सकती है |

फूलों की खेती में अपार संभावनाएं | Gaw Me Paise Kaise Kamaye

दोस्तों अगर आप बेरोजगार हो गए हैं और गाँव में रहते हैं तो आपके लिए फूलों की खेती से अच्छा और कोई रोज़गार नहीं हो सकता | यदि आपके पास थोड़ी सी ही जमीन है । तो उसी जमीन पर कृषि कर के अच्छे – खासे रुपए कमा सकते हैं | आइए जानते हैं।

कौनसे फूल की खेती से कमायें 15 लाख | Marigold Flower Farming

तो हम जिन फूलों की कृषी की बात कर रहे हैं वह फूल हैं गेंदे के | गेंदे का फूल एक ऐसा फूल है जिसका प्रयोग बाजार में अनेकों प्रकार से होता है । जैसे इत्र बनाने, अगर बत्तियां बनाने में, त्योहारों इत्यादि में सजावट के कार्य मे, औषधियां बनाने में आदि कई प्रकार से | इस फूल में विटामीन C की मात्रा पर्याप्त होती है । यह हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ा पाने मे समर्थ है। इसमें कई प्रकार की छोटी से बड़ी बिमारियों को नष्ट करने की क्षमता पायी जाती है। तो आइये इसी सिलसिले में इसके कुछ औषधिय गुणों से परिचित हों ।

गेंदे के फूल के चिक्तसिय क्षेत्र में उपयोग | Marigold Flower Benefits

1. गेंदे के फूल कटे – फटे घावों को दाग सहित मिटाने में कारगर है। इसके लिए इसे पीस कर इसका लेप घाव पर लगा देने से कुछ ही दिनों में घाव भर जाता है।

2. त्वचा से जुड़ी समस्याओं जैसे : – किल , मुहासे, दाग, झाइयां इत्यादि में इसके लेप व रस के उपयोग से इन परेशानियों से मुक्ति पायी जा सकती है।

3. इसके रसों के सेवन से हृदय सम्बंधित रोग तथा किडनी सम्बंधित रोग पर भी नियंत्रण पाया जा सकता है।

गेंदे के फूलों की खेती कैसे करें | How To Start Marigold Flower Farming

ऐसे – ऐसे चमत्कारी गुणों से परिपुर्ण गेंदे के फूलों की बाजारों में अत्यधिक मांग है। और इसलिए यदि आप मात्र एक एकड़ की भूमि में भी इसकी कृषि करते हैं तो 5-6 लाख रुपए तक प्रत्येक वर्ष कमा सकते हैं । एक एकड़ के क्षेत्र में तीन क्विंटल प्रति हफ्ते फूल उगाए जा सकते हैं । तथा बजारों में लगभग 70 रू प्रति कि ०ग्रा० इन फूलो का मूल्य है। इस हिसाब से २० हजार रू तक की कमाई एक हफ्ते के भीतर ही की जा सकती है।एक वर्ष में फूलों की तीन खेप बेची जा सकती है अर्थात एक वर्ष के अंतर्गत इसके बीजों की बुवाई तीन बार की जा सकती है । इसके साथ ही जब आप इसकी बुवाई एक बार कर लेंगे तो उन्हीं पौधों से दो वर्षों तक फूल प्राप्त होते रहेंगे ।

ज्यादा पैसे कमाने के लिए कितनी जमीन और बीजों की जरुरत होगी 

एक हेक्टेयर तक की जमीन में लगभग 1 किलो ग्राम गेंदे के बीज बोए जा सकते हैं। सर्वप्रथम इसके लिए आपको गेंदे के बिजों को बोना होता है। फिर छोटे – छोटे पौधे के उग जाने के पश्चात् जब उनमें दो -चार पत्तियां आने लगे तो पौधों को सही ढंग से अलग – अलग कर के लगाए जाते हैं । एवं लगभग डेढ़ से दो माह के अर्न्तगत इन पौधों में कलियाँ भी आनी प्रारम्भ हो जाती हैं । जब इनमें कलियां पहली बार आएं तो उन बीच में उगे कलियों को पौधों से अलग कर देना चाहिए।उसे 1 – 2 इंच की डंडी के सहित तोड़ देना चाहिए । इससे पौधे घने होते हैं तथा अगली बार एक साथ अनेकों कलियां उगतीं है । तथा बागवानी विभाग अब ठंड के मौसम में भी इन फूलों की कृषि करने में सहायक की भूमिका निभा रहें हैं।

फूलों की खेती में सावधानियां 

इन फुलों की कृषि की सुरक्षा का जिम्मा भी आपका ही होता है । इसे अत्यधिक ठंड ओला वृष्टि तथा पशु पक्षियों आदि से बचाना भी होता है। गेंदे के फूल वैसे तो अनेकों प्रकार के होते हैं I जिनमें से कुछ प्रमुख नाम हैं- ब्राउन स्काउट , गोल्डन , येल्लो क्राउन , बटर स्कौच इत्यादि अनेकों अन्य भी हैं । एवं इन सभी प्रकार के गेंदे के बीज कोलकाता के बाजार में आसानी से उपलबद्ध हो जाते हैं । इस कृषि से होने वाले लाभ को देखकर कई कृषक हैं जो वर्ष में चार बार भी बीजों की बुवाई करते हैं । तथा इस बात का ध्यान रहे कि इन फूलों को तभी तोड़ने चाहिए जब फूल भलि भांती विकसित हो चुके हों ।

फूलों की खेती में खाद डालने की प्रक्रिया:-

इसकी कृषि में बीज की बुवाई से पूर्व 100 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर के हिसाब से गोबर की खाद तथा 600किलोग्राम नाइट्रोजन, 400 किलोग्राम फास्फोरस एवं 300 किलोग्राम पोटैशियम को मिश्रित कर बीज के बोने के पश्चात भूमि पर पौधे के उगने की किसी प्रकार की हलचल आने से पूर्व इस आधे खाद को डाल देना चाहिए। एवं बीज बोने के लगभग डेढ़ से 2 महीने पश्चात बचे हुए आधे खाद को डालना चाहिए।

ऐसे तो गेंदा के फूल की कृषि किसी भी प्रकार की मिट्टी में सहजता से हो जाती है ।किंतु अत्यधिक पैदावार के लिए दोमट मिट्टी जिससे जल निकासी होना सहज होता है। इसे इसकी कृषि के लिए उत्तम माना जाता है।

एवं कृषि के पूर्व खेत की भूमि अथवा मिट्टी की जांच करवा लेनी चाहिए। जिससे कि मिट्टी के कमियों का पता चल जाए। एवं आपको खाद डालने में आसानी हो। क्योंकि मिट्टी के अनुरूप ही पर्याप्त मात्रा में खाद आवश्यक होती है। एवं आवश्यकता से अधिक खाद कृषि के लिए हानिकारक भी हो सकता है।

सिंचाई का कार्य:-

इसकी कृषि में गर्मी के मौसम में 1 सप्ताह के बाद बाद तथा ठंडी के मौसम में 2 सप्ताह के बाद- बाद सिंचाई करने की आवश्यकता होती है।

पौधों की रोगों से तथा कीट पतंगों से रक्षा कार्य:-

पौधों पर अधिकतर देखा गया है लाल मकड़ियां अपना डेरा जमा लेती हैं। ऐसे में इनसे पौधों की रक्षा के लिए जीरो पॉइंट आठ प्रतिशत का घेरा बनाकर मेलाथियान का छिड़काव पौधों पर करना चाहिए।

मोजो विराट नामक पौधों के रोग से जब कुछ पौधे ग्रसित हो जाए तो अन्य पौधों की रक्षा के लिए। रोग ग्रसित पौधों को दूर कहीं मिट्टी के भीतर दवा देना चाहिए।

अन्य फसलों की तुलना में गेंदे की फसल अधिक लाभदायक:

अनाज की फसलों में 6 महीने के पश्चात फसल काटे वह बेचे जाते हैं। जिससे वर्ष में केवल दो बार ही लाभ उठाया जा सकता है। किंतु गेंदे के फसल में वर्ष में तीन से चार बार बुवाई होती है तथा फूलों की छटाई होती है। जिससे वर्ष में तीन से चार बार लाभ प्राप्त किया जा सकता है। एवं इसके अतिरिक्त अपने फूलों को दूर-दूर तक बिक्री के लिए भेजने हेतु इसकी पैकेजिंग कर देना अधिक अच्छा माना जाता है। इससे सुरक्षित ढंग से आपके फूल दूर-दूर की मंडियों तक पहुंच जाते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको गाँवों में पैसे कमाने का एक ज़बरदस्त तरीका पोस्ट किया है | अब जो लोग अपनी नौकरी छोड़कर गाँवों में रहने लगे हैं और gaon me paise kaise kamaye के बारे में सोच रहे हैं उनको आज की पोस्ट से बहुत कुछ सिखने को मिला होगा | गेंदे के फूलों की खेती करकर आप बहुत अच्छा पैसा कमा सकते हैं | और दूसरे लोगों को भी रोज़गार दे सकते हैं |

आशा करते हैं आपको हमारी आज की पोस्ट जरुर पसंद आई होगी | अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो हमें जरुर लिखें | और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर कर्रें |


शेयर करें - ज्ञान बाँटें

Leave a Comment